TUM PE HUM TOH LYRICS – BOLE CHUDIYAN

Tum Pe Hum Toh Lyrics from Hindi movie Bole Chudiyan Starring Nawazuddin Siddiqui & Tamannaah. The film is directed by Nawaz’s younger brother Shamas Nawab Siddiqui. The Bole Chudiyan movie song is sung by Yasser Desai, composed by Raghav Sachar while lyrics of the song are penned down by Laado Suwalka.

Tum Pe Hum Toh Song Credits:

Lyrics: Laado Suwalka
Singer: Raj Barman
Actors: Nawazuddin Siddiqui & Tamannaah Bhatia
Music: Raghav Sachar
Label: Zee Music Company

Tum Pe Hum Toh |Bole Chudiyan| Nawazuddin Siddiqui, Tamannaah Bhatia

TUM PE HUM TOH LYRICS

Tum pe hum toh mare ja rahe hain
Mitne ki zidd kiye ja rahe hain
Tum pe hum toh mare ja rahe hain
Mitne ki zidd kiye ja rahe hain

Tum pe hum toh mare ja rahe hain
Mitne ki zidd kiye ja rahe hain
Sochke tumko lagta hai dil ko
Apni nazar mein loote jaa rahe hain

Tum pe hum toh mare ja rahe hain
Mitne ki zidd kiye ja rahe hain

Khwab to bas zariya hai tumko paane ka
Teri saanson mein bass ke dil tak aane ka
Khwab to bas zariya hai tumko paane ka
Teri saanson mein bass ke dil tak aane ka

Kaisa safar hai kaisi dagar hai
Raahton se door huye jaa rahe ho

Tum pe hum toh mare ja rahe hain
Mitne ki zidd kiye ja rahe hain

Chhu bhi lo nazar se mujhe kyun sharmate ho
Hai ishq tumhe bhi bepanah kyun chhupate ho
Chhu bhi lo nazar se mujhe kyun sharmate ho
Hai ishq tumhe bhi bepanah kyun chhupate ho

Bin tere aajkal lagta hai har pal
Betarasa hum to bikhre jaa rahe hain

Tum pe hum toh mare ja rahe hain
Mitne ki zidd kiye ja rahe hain
Tum pe hum toh mare ja rahe hain
Mitne ki zidd kiye ja rahe hain

Sochke tumko lagta hai dil ko
Apni nazar mein loote jaa rahe hain
Tum pe hum toh mare ja rahe hain
Mitne ki zidd kiye ja rahe hain

Mitne ki zidd kiye ja rahe hain
Mitne ki zidd kiye ja rahe hain
Mitne ki zidd kiye ja rahe hain

Tum Pe Hum Toh Lyrics in Hindi

तुम पे हम तो मरे जा रहे हैं
मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं
तुम पे हम तो मरे जा रहे हैं
मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं
तुम पे हम तो मरे जा रहे हैं
मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं
सोचके तुमको लगता है दिल को
अपनी नज़र में लुटे जा रहे हैं

तुम पे हम तो मरे जा रहे हैं
मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं

ख्वाब तो बस जरिया है तुमको पाने का
तेरे साँसों में बस के दिल तक आने का
ख्वाब तो बस जरिया है तुमको पाने का
तेरे साँसों में बस के दिल तक आने का

कैसा सफ़र है कैसी डगर है
राहतों से दूर हुए जा रहे हो

तुम पे हम तो मरे जा रहे हैं
मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं

छू भी लो नज़र से मुझे क्यूँ शर्माते हो
है इश्क तुम्हें भी बेपनाह क्यूँ छुपाते हो
छू भी लो नज़र से मुझे क्यूँ शर्माते हो
है इश्क तुम्हें भी बेपनाह क्यूँ छुपाते हो

बिन तेरे आजकल लगता है हर पल
बेतहासा हम तो बिखरे जा रहे हैं

तुम पे हम तो मरे जा रहे हैं
मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं
तुम पे हम तो मरे जा रहे हैं
मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं

सोचके तुमको लगता है दिल को
अपनी नज़र में लुटे जा रहे हैं
तुम पे हम तो मरे जा रहे हैं
मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं

मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं
मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं
मिटने की जिद्द किये जा रहे हैं

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

510FansLike

Latest Articles